• facebook
  • twitter
  • in
  • g_plus
नवीनतम समाचार विकल्प

Print

उपलब्धियां

ईपीआईएक मिनी रत्न कंपनी है

ईपीआई को सार्वजनिक क्षेत्र के साथ ही| निजी क्षेत्र की लगभग सभी बिजली कम्पनियों और इस्पात संयंत्रों के लिए काम करने का दुर्लभ गौरव प्राप्त है।

ईपीआई अपनी गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली, पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली और व्यावसायिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली अर्थात् अपने परिचालन के सभी क्षेत्रों के लिए आईएसओ 9001:2015, आईएसओ 14001:2015 और कॉरपोरेट कार्यालय के लिए ओएचएसएएस 18001:2007 प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाली पहली कंपनियों में शामिल है।

ईपीआई परियोजना निर्यात में अग्रणी रही है और अन्य भारतीय निविदा कंपनियों के लिए मार्ग खोले हैं।

ईपीआई ने अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी का उपयोग कर मिडिल ईस्ट और भारत में कई जटिल परियोजनाओं को पूरा किया है।

भारी उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन भारी उद्योग विभाग ने ईपीआई को भारत सरकार के साथ हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापनों के तहत उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर वर्ष 1998-99, 1999-00, 2000-01, 2001-02, 2005-06, 2006-07, 2007-08, 2008-09 और 2009-10 के लिए एक "उत्कृष्ट कंपनी" के रूप में मूल्यांकित किया है।

ईपीआई को टंकारा-गौरीदाद ब्लक वाटर परियोजना, जिला राजकोट को समय पर पूरा करने के लिए गुजरात के जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड द्वारा सम्मानित किया गया।

ईपीआई को गुजरात वाटर इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, गांधी नगर द्वारा जल आपूर्ति के लिए भचाउ-अंजार परियोजना के निर्धारित समय से पहले सफल समापन में अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया।

पुरस्कार/प्रमाण पत्र
पुरस्कार

ईपीआई ने समझौता ज्ञापनों के अंतर्गत प्रदर्शन के साथ ही परियोजनाओं पर अपने प्रदर्शन के लिए अनेक पुरस्कार प्राप्त किए हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

1.वर्ष 1998-99 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री का मेरिट सर्टिफिकेट।

2.वर्ष 1999-2000 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र।

3. वर्ष 2000-01 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र। ईपीआई का प्रदर्शन दस शीर्ष सार्वजनिक उद्यमों में शामिल था और पुरस्कार 04.05.2002 को भारत के तत्कालीन उप-राष्ट्रपति, स्वर्गीय श्री कृष्णकांत द्वारा प्रदान किया गया।

4. टंकारा-गौरीदाद ब्लक वाटर पाइपलाइन परियोजना (जिला राजकोट) के समय पर पूरा करने के लिए वर्ष 2001-2002 के दौरान गुजरात राज्य में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए गुजरात के जल आपूर्ति और सीवरेज बोर्ड द्वारा सम्मान। 19.05. 2002 को गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री द्वारा पुरस्कार प्रदान किया गया।

5.डीएचआई ने भी ईपीआई द्वारा 2000-01 के लिए सरकार के साथ हस्ताक्षरित अपने समझौता ज्ञापन के तहत प्रतिबद्ध लक्ष्य से अधिक कार्य करने के लिए इसकी प्रशंसा की है।

6. वर्ष 2001-02 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता के लिए राष्ट्रपति का मेरिट सर्टिफिकेट।

7.जल आपूर्ति के लिए भचाऊ-अंजार पाइपलाइन परियोजना के निर्धारित समय से पहले सफल समापन में ईपीआई के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए गुजरात वाटर इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, गांधीनगर द्वारा सम्मान।

8. वर्ष 2005-06 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र।

9.वर्ष 2006-07 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र।

10 वर्ष 2007-08 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र।

11. वर्ष 2008-09 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र।

11. वर्ष 200-10 के लिए समझौता ज्ञापन लक्ष्यों की पूर्ति में उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र।

18.05.2003 को गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री द्वारा पुरस्कार प्रदान किया गया।


 



 

प्रमाणपत्र
ईपीआई को इसकी गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली के लिए आईएसओ 9001:2015), पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली के लिए (आईएसओ 14001:2015) और व्यवसायिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रणाली के लिए (ओएचएसएएस 18001:2007) प्रदान किया गया है।

 

महत्वपूर्ण लिंक